Posts

श्री ब्रह्मा देव जी

श्री ब्रह्मा देव जी दोस्तो हिंदू धर्म के अनुसार श्री ब्रह्मा देव जी ने कई हजारों वर्ष पूर्व पूरी सृष्टि का निर्माण किया था  ब्रह्मा देव जी के चार मुख बताऐ जाते है उन्हीं चारो मुख से चार वेदों का निर्माण हुआ था  (1) ऋग्वेद, (2) यजुर्वेद, (3) सामवेद, (4) अथर्ववेद माँ भगवती सरस्वती ब्रह्मा जी की पत्नी हैं। भारत में श्री ब्रह्मा मंदिर 1.करमाली मंदिर, पणजी 2. ब्रह्मपुरेश्वर मंदिर, थिरुपट्टूर 3.आदि ब्रह्मा मंदिर, खोखन 4.ब्रह्मा मंदिर, पुष्कर श्री ब्रह्मा देव जी के प्रचलित नाम 1.ब्रह्मगर्भाय 2.वासुकये 3.वेदरूपिणे 4.दुर्गनाशनाय 5.दिवानाथाय 6.गौतमाय 7.शौरये 8.महारूपाय श्री ब्रह्मा देव जी मूल मंत्र ॐ ब्रह्मणे नमः श्री ब्रह्मा गायत्री मंत्र ॐ वेदात्मने विद्महे, हिरण्यगर्भाय धीमहि, तन्नो ब्रह्म प्रचोदयात्॥ श्री ब्रह्मा जी की आरती पितु मातु सहायक स्वामी सखा , तुम ही एक नाथ हमारे हो। जिनके कुछ और आधार नहीं , तिनके तुम ही रखवारे हो । सब भॉति सदा सुखदायक हो , दुख निर्गुण नाशन हरे हो । प्रतिपाल करे सारे जग को, अतिशय करुणा उर धारे हो

श्री सूर्य देव जी

श्री चित्रगुप्त महाराज

World Best Shayri

श्री शिवशंकर जी